मत्ती :24 matthew :24

 देखो अन्त के समय का क्या चिन्ह होगा। 

मत्ती 24 में प्रभू यीशु ने स्पष्ट रूप से प्रगट किया है अपने चेलो को बताया हे कि अन्त के दिनो में लोग सत्य से भिन्न हो जायेगें और कथा कहानियो पे मन लगायेंगे और अपने आपको विनाश मे डाल देगें 

ये हम नहीं प्रभू का वचन ही कहता है। 

जब यीशु मन्दिर से निकलकर जा रहा था, तो उसके चेले उस को मन्दिर की रचना दिखाने के लिये उस के पास आए।

मत्ती 24:1


उस ने उन से कहा, क्या तुम यह सब नहीं देखते? मैं तुम से सच कहता हूं, यहां पत्थर पर पत्थर भी न छूटेगा, जो ढाया न जाएगा।

मत्ती 24:2

और जब वह जैतून पहाड़ पर बैठा था, तो चेलों ने अलग उसके पास आकर कहा, हम से कह कि ये बातें कब होंगी और तेरे आने का, और जगत के अन्त का क्या चिन्ह होगा?

मत्ती 24:3

यीशु ने उन को उत्तर दिया, सावधान रहो! कोई तुम्हें न भरमाने पाए।

मत्ती 24:4


क्योंकि बहुत से ऐसे होंगे जो मेरे नाम से आकर कहेंगे, कि मैं मसीह हूं: और बहुतों को भरमाएंगे।

मत्ती 24:5

तुम लड़ाइयों और लड़ाइयों की चर्चा सुनोगे; देखो घबरा न जाना क्योंकि इन का होना अवश्य है, परन्तु उस समय अन्त न होगा।

मत्ती 24:6

क्योंकि जाति पर जाति, और राज्य पर राज्य चढ़ाई करेगा, और जगह जगह अकाल पड़ेंगे, और भुईंडोल होंगे।

मत्ती 24:7

ये सब बातें पीड़ाओं का आरम्भ होंगी।

मत्ती 24:8

तब वे क्लेश दिलाने के लिये तुम्हें पकड़वाएंगे, और तुम्हें मार डालेंगे और मेरे नाम के कारण सब जातियों के लोग तुम से बैर रखेंगे।

मत्ती 24:9

तब बहुतेरे ठोकर खाएंगे, और एक दूसरे से बैर रखेंगे।

मत्ती 24:10

और बहुत से झूठे भविष्यद्वक्ता उठ खड़े होंगे, और बहुतों को भरमाएंगे।

मत्ती 24:11

और अधर्म के बढ़ने से बहुतों का प्रेम ठण्डा हो जाएगा।

मत्ती 24:12

परन्तु जो अन्त तक धीरज धरे रहेगा, उसी का उद्धार होगा।

मत्ती 24:13

और राज्य का यह सुसमाचार सारे जगत में प्रचार किया जाएगा, कि सब जातियों पर गवाही हो, तब अन्त आ जाएगा॥

मत्ती 24:14

Ameen। ।




Bible vchan google 




Bible vchan बाइबल हिन्दी 

Matthew 



मत्ती 24 


And Jesus went out, and departed from the temple: and his disciples came to him in order to show him the buildings of the temple.

Matthew 24:1

And Jesus said unto them, See all of you not all these things? verily I say unto you, There shall not be left here one stone upon another, that shall not be thrown down.

Matthew 24:2

And as he sat upon the mount of Olives, the disciples came unto him privately, saying, Tell us, when shall these things be? and what shall be the sign of your coming, and of the end of the world?

Matthew 24:3

And Jesus answered and said unto them, Take heed that no man deceive you.

Matthew 24:4

For many shall come in my name, saying, I am Christ; and shall deceive many.

Matthew 24:5

And all of you shall hear of wars and rumours of wars: see that all of you be not troubled: for all these things must come to pass, but the end is not yet.

Matthew 24:6

For nation shall rise against nation, and kingdom against kingdom: and there shall be famines, and pestilences, and earthquakes, in divers places.

Matthew 24:7


All these are the beginning of sorrows.

Matthew 24:8

Then shall they deliver you up to be afflicted, and shall kill you: and all of you shall be hated of all nations for my name's sake.

Matthew 24:9

























Comments

Popular posts from this blog

Bible hindi बाईबल वचन

Bible vchan बाइबल वचन